मंगलवार, 7 जून 2011

इक क़तरा जिन्दगी का....


















कह गई तुम्हारी खामोशी
तुम्हारे लब पे आई
हर बात
मेरे अश्क का क़तरा
मेरे लबों को सिल गया
और .....
वक्त लिख गया
खाली पन्नों पर
अपनी दास्तां.........!1
                             


                                                    सुमन मीत

25 comments:

संजय भास्कर ने कहा…

आपकी हर रचना की तरह यह रचना भी बेमिसाल है !

Udan Tashtari ने कहा…

बहुत भावपूर्ण...

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर क्षणिका!

श्यामल सुमन ने कहा…

होंठ सुमन का सिल गया कतरा अश्क का एक
यहाँ सुमन को ये लगा पद्य भाव है नेक.
सादर
श्यामल सुमन
+919955373288
www.manoramsuman.blogspot.com

Kailash C Sharma ने कहा…

बहुत ख़ूबसूरत प्रस्तुति..

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

बहुत भावमयी रचना

कुश्वंश ने कहा…

बहुत खूबसूरत , बधाई

suman gaur ने कहा…

suman kya kahu shabd nahi hai mere pass ..........kitni bhav puran likhi gai hai .....bhadai bahut bahut..........

Vivek Jain ने कहा…

बढ़िया प्रस्तुति,
विवेक जैन vivj2000.blogspot.com

Vivek Jain ने कहा…

सुंदर प्रस्तुति
विवेक जैन vivj2000.blogspot.com

Er. सत्यम शिवम ने कहा…

आपका स्वागत है "नयी पुरानी हलचल" पर...यहाँ आपके पोस्ट की है हलचल...जानिये आपका कौन सा पुराना या नया पोस्ट है यहाँ...........

"नयी पुरानी हलचल"

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

क्या बात ...... कम शब्दों में खूब कहा ... बहुत बढ़िया रचना

Kunwar Kusumesh ने कहा…

भावविभोर कर देने वाली रचना..

रचना दीक्षित ने कहा…

ख़ामोशी की जुबान. बहुत सुंदर रचना.

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

बहुत ही खूबसूरत कविता.

सादर

Rajey Sha राजे_शा ने कहा…

bahut khoob...!

वीना ने कहा…

भावपूर्ण कविता....

Babli ने कहा…

वाह वाह! क्या बात है! बहुत ख़ूबसूरत और शानदार रचना! लाजवाब प्रस्तुती!

निर्मला कपिला ने कहा…

चंद शब्दों मे एक ज़िन्दगी। बहुत खूब।

upendra shukla ने कहा…

wah kya likhti ho aap !mere blog par aane ke liye yaha click kare-"samrat bundelkhand"

Manav Mehta ने कहा…

rishte mein khamoshi bhi sunai deti hai suman.......... pyaar me khamoshi bhi jaruri hoti hai kai baar.........

bahut sundar likha hai tumne............ :)

Virendra ने कहा…

Behad umda likha hai ...........ji. Bahutpasand aayi.

रश्मि प्रभा... ने कहा…

bahut badhiyaa

निवेदिता ने कहा…

अच्छी अभिव्यक्ति ......

Shekhar Suman ने कहा…

:)

एक टिप्पणी भेजें