मंगलवार, 24 जनवरी 2012

खामोश जिंदगी


26 comments:

Er. सत्यम शिवम ने कहा…

bina kahe v sab kuch kahti hai aankhe...aur maun me v ek aisa sore jo bas pyaar ka hai..laazwaab rachna :)

मनोज कुमार ने कहा…

ख़ामोशी की आवाज़ स्पष्ट सुनी जा रही है।

रचना दीक्षित ने कहा…

ख़ामोशी भी कभी कभी बहुत कह जाती है. बधाई इस सुंदर प्रस्तुति के लिये.

Udan Tashtari ने कहा…

Sunder---kintu kuch halchal bhi rahe to achcha.

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

खूबसूरत त्रिवेणी

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार ने कहा…

.


"ज़िंदगी ख़ामोशी से तेरे साथ चल रही है…"

वाह सुमन जी !
बहुत ख़ूबसूरत त्रिवेणी लिखी है आपने !
चित्र के साथ सजा कर लिखना भी बहुत पसंद आया :)

शुभकामनाओं सहित …

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

हृदयस्पर्शी

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर रचना!
--
गणतन्त्र दिवस की पूर्व वेला पर हार्दिक शुभकामनाएंँ!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
--
गणतन्त्रदिवस की पूर्ववेला पर हार्दिक शुभकामनाएँ!
--
आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज के चर्चा मंच पर भी की गई है!
सूचनार्थ!

डा. अरुणा कपूर. ने कहा…

सुन्दर मगर कम से कम शब्दों में ..बहुत कुछ कह डाला!

दिगम्बर नासवा ने कहा…

यूँ ही खामोशी से उनका साथ मिलता रहे तो जिंदगी को और चाहिए भी क्या .... लाजवाब त्रिवेणी है ...

शहरयार ने कहा…

Badhia

रेखा ने कहा…

आपकी ख़ामोशी बहुत अच्छी लगी ..

sushma 'आहुति' ने कहा…

बेहतरीन भाव ... बहुत सुंदर रचना..........

नीरज गोस्वामी ने कहा…

वाह...वाह...वाह..लाजवाब प्रस्तुति

नीरज

Pallavi ने कहा…

कितना गहरा शब्द है यह ज़िंदगी जिस पर कितना लिखो कम ही रहता है इसलिए शाद आपने भी लिखा और मैंने भी ...:-) समय मिले कभी तो आयेगा मेरी पोस्ट पर आपका सवागत हैhttp://aapki-pasand.blogspot.com/

परमजीत सिँह बाली ने कहा…

बेहतरीन भाव .

रचना दीक्षित ने कहा…

लाजवाब प्रस्तुति.

Piush Trivedi ने कहा…

Nice Blog , Plz Visit Me:- http://hindi4tech.blogspot.com ??? Follow If U Lke My BLog????

dinesh aggarwal ने कहा…

सुन्दर सोच की अभिव्यक्ति.....
कृपया इसे भी पढ़े-
नेता- कुत्ता और वेश्या (भाग-2)

vidya ने कहा…

बहुत सुन्दर...
सुन्दर ब्लॉग..
शुभकामनाएं..

Arvind Mishra ने कहा…

भावपूर्ण !

Rakesh Kumar ने कहा…

सुन्दर,भावपूर्ण अभिव्यक्ति.
अल्प शब्दों में गहन भाव लिए.
प्रस्तुति के लिए आभार,सुमन जी.

Naveen Mani Tripathi ने कहा…

आ ह ह...... क्या खूब लिखा है सुमन जी आपने ....आभार.

expression ने कहा…

वाह......................

चंद शब्द................समझो पूरी कहानी.

Reena Maurya ने कहा…

गहरे भाव ,गहरे अहसास है
इस त्रिवेणी में..
बहुत बढ़ियाँ...
:-)

एक टिप्पणी भेजें