शनिवार, 2 मार्च 2013

एहसास

19 comments















तेरे एहसास को मैं भर लूँ बाहों में सनम 
फिज़ा में फैली है आज खुशबू तेरे प्यार की ..!! 



सु-मन