शनिवार, 27 अप्रैल 2013

तेरे नां दी इक बूँद

21 comments
















तेरे नां दी इक बूँद जे चख लूँ तां अमृत होए 

साहां ते रुलदी पई रूह नू हुण बसेरा दे दे ..!!






सु~मन