रविवार, 22 सितंबर 2013

तेरी याद

24 comments











रात चुनती रही
शबनम तेरी याद की

पलकें सहेजती रही
आँखों के आशियाने में

ख्वाब भीगते रहे
अश्कों की बारिश में

सीले से लफ़्ज
फड़फड़ाते रहे लबों पे

यूँ कटती रही रात
बस तेरी याद के साथ !!

सु..मन