मंगलवार, 23 दिसंबर 2014

टूटती नेमतें













टूट कर बिखर जाती हैं अक्सर नेमतें 
वक़्त की शाख से लम्हें झड़ने के बाद !!



सु-मन 








10 comments:

Sanghsheel 'Sagar' ने कहा…

बहुत खूबसूरत शेर।
मेरी सोच मेरी मंजिल

Digamber Naswa ने कहा…

लम्हे झड जाने के बाद कुछ भी नहीं बचता ...

Yogi Saraswat ने कहा…

खूबसूरत अशआर

धीरेन्द्र अस्थाना ने कहा…

वक्त के गुजरने के बाद किसी भी नेमत का कोई मूल्य नहीं रहता।

Kamal Upadhyay ने कहा…

बहुत सही

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत सुन्दर

Amrita Tanmay ने कहा…

वाह !

Onkar ने कहा…

बहुत सुन्दर

tejkumar suman ने कहा…

bahut sundar bhav

AJIT NEHRA ने कहा…

VERY NICE TOPIC DEAR KEEP GOING SUPERB

www.homebasedjob.biz get daily free home based jobs

www.genuinehomejobs.in All part time jobs for students mom's

www.genuinehomejobs.in earn money by Mobile android smartphone

www.nvrthub.com All part time home based jobs free

www.homebasedjob.biz all typing DATA ENTRY JOB

www.nvrthub.com Government Jobs on mobile daily alerts

एक टिप्पणी भेजें