शनिवार, 28 जून 2014

जश्न-ए-हिज्र

15 comments

















ऐ दोस्त आ ! मिलकर मनाएं जश्न-ए-हिज्र 
सेहरा-ए-जिंदगी को अश्कों से समंदर कर दें !!



सु..मन