गुरुवार, 18 जून 2015

हसरतों की बारिश

14 comments









भर भर 
खाली होता गया 
ख्वाहिशों का मयखाना 

बूँद बूँद 
अश्क होती गयी 
हसरतों की बारिश !!


सु-मन