शनिवार, 3 दिसंबर 2016

तुम और मैं -५

7 comments


जानती हूँ तुम नहीं हो ..

ख़ामोशी तुम तक पहुँचने का मेरा पसंदीदा एकमात्र विकल्प है !!

सु-मन