गुरुवार, 16 जुलाई 2015

हज़ में बरसता सावन


















बरस रहा है आज सावन 
हज़ के इस पाक महीने में 
सज गए हैं आज शिवालय 
इबादत हो रही मदीने में !!

सु-मन 

(चित्र : सुबह ऑफिस आते हुए बरसते सावन का नज़ारा )

13 comments:

दिगम्बर नासवा ने कहा…

अमन का महीना है ये ...
अति सुन्दर लिखा है ...

सु-मन (Suman Kapoor) ने कहा…

शुक्रिया नसवा जी

Yogi Saraswat ने कहा…

बहुत बढ़िया ! अमन के पाक महीने को समर्पित खूबसूरत अलफ़ाज़

अभिषेक शुक्ल ने कहा…

बहुत अच्छा

Shah Nawaz ने कहा…

Bahoot khoob.....

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुंदर !

Unknown ने कहा…

सुन्दर शब्द रचना
http://savanxxx.blogspot.in

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा आज शुक्रवार (17-07-2015) को
"एक पोस्ट का विश्लेशण और कुछ नियमित लिंक" {चर्चा अंक - 2039}
(चर्चा अंक- 2039) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत सार्थक सोच...सुन्दर प्रस्तुति...

संजय भास्‍कर ने कहा…

बहुत अच्छी लिखी है सुमन जी

रचना दीक्षित ने कहा…

अच्छा लिखा है ईद मुबारक.

Onkar ने कहा…

बहुत सुन्दर रचना

Madhulika Patel ने कहा…

बहुत बढ़िया रचना ।

टिप्पणी पोस्ट करें