बुधवार, 2 जनवरी 2019

बाबुल



















.......फ़लक पर
भीगा ही होगा तुम्हारा दामन


तेरी याद के साये ने
आज जब छुआ मुझको बाबुल !!


सु-मन 

6 comments:

Dilbag Virk ने कहा…

आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 3.1.2019 को चर्चा मंच पर चर्चा - 3205 में दिया जाएगा

धन्यवाद

Jyoti Khare ने कहा…

बहुत सुंदर

Onkar ने कहा…

सुन्दर पंक्तियाँ

पुरुषोत्तम कुमार सिन्हा ने कहा…

अन्तःकरण से निकली हुई पंक्तियाँ ।

Anuradha chauhan ने कहा…

सुंदर पंक्तियां 👌

Kya Hai Kaise ने कहा…

अति सुंदर लेख

एक टिप्पणी भेजें